Blog | Kautilya

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक पहुंचने वाला विश्व का पहला अरबी

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक पहुंचने वाला विश्व का पहला अरबी

   Kautilya Academy    05-10-2019

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक पहुंचने वाला विश्व का पहला अरबी

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक पहुंचने वाला विश्व का पहला अरबी               
                                                                                                                        अलमाटी(कजाखस्तान), तीन अक्टूबर (एएफपी) अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आई एस एस) तक पहुंचने वाला विश्व का पहला अरबी व्यक्ति गुरुवार को तीन सदस्यीय दल के साथ पृथ्वी पर लौट आया है, रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रॉसकॉसमॉस ने यह जानकारी दी। संयुक्त अरब अमीरात के नागरिक हज्जा-अल-मंसूरी नासा के अंतरिक्ष यात्री निक हेग और रूसी अंतरिक्ष यात्री एलेक्सी ओवचिनिन के साथ कजाखस्तान के घास के मैदानों पर सुरक्षित उतरने में सफल हुए। मंसूरी और अन्य दोनों अंतरिक्ष यात्री गत वर्ष आई एस एस के लिए रवाना नहीं हो सके थे । 

हेग और ओवचिनिन अंतरिक्ष में स्थित प्रयोगशाला आई एस एस में 203 दिनों के मिशन पर थे। मंसूरी के साथ 25 सितंबर को आई एस एस पर गयीं रूस की ओलिग स्क्रीपोच्का और नासा की जेसिका मेयर अभी आईएसएस पर ही हैं। यद्यपि मंसूरी कुल आठ दिनों के लिए ही अंतरिक्ष स्थित प्रयोगशाला पर गए थे फिर भी संयुक्त अरब अमीरात में उन्हें लेकर काफी उत्साह और गर्व है। 

अंतरिक्ष के क्षेत्र में नया संयुक्त अरब अमीरात 2021 तक मंगल पर मानवरहित अन्वेषक भेजना चाहता है। मंसूरी ट्विटर पर भी खासे सक्रिय हैं, उन्होंने अंतरिक्ष प्रयोगशाला से मक्का और यू ए ई की तस्वीरें साझा की। गुरुवार को उन्होंने आई एस एस की कुपोला वेधशाला से अंतरिक्ष की तस्वीर साझा की और यू ए ई के संस्थापक शेख जायद को याद किया। मंसूरी को उसी केंद्र से अंतरिक्ष में भेजा गया था जिससे कभी यूरी गगारिन गए थे। उस समय दुबई के मोहम्मद बिन रशीद स्पेस सेंटर से भारी भीड़ ने हीरो के रूप में उनका अभिवादन किया था। दुबई की बुर्ज खलीफा इमारत को उस अवसर पर रौशनी से सजाया गया था। पैंतीस वर्षीय पूर्व सैन्य पायलट के इस मिशन को अरब देशों के मीडिया में काफी प्रमुखता दी गयी।

 बाह्य अंतरिक्ष में जाने वाले प्रथम अरबी व्यक्ति सऊदी अरब के सुल्तान बिन सलमान अल सऊद थे जो अमेरिकी यान से 1985 में अंतरिक्ष में गए थे। यू ए ई ने 2021 में मंगल पर मानव रहित मिशन ‘होप’ भेजने की योजना बनाई है। ऐसा करने वाला यह विश्व का पहला अरब देश होगा। आई एस एस रूस और शेष विश्व के बीच सहयोग की एक मिसाल है। यह प्रयोगशाला सन 1998 से धरती का चक्कर लगा रही है।

Kautilya Academy App Online Test Series