Blog | Kautilya

भारत और फिलीपींस ने चार समझौते पर हस्ताक्षर किये

भारत और फिलीपींस ने चार समझौते पर हस्ताक्षर किये

   Kautilya Academy    21-10-2019

भारत और फिलीपींस ने चार समझौते पर हस्ताक्षर किये

[11:41, 10/21/2019] Shivani Sunhare: भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते से मुलाकात की और चार समझौतों पर हस्ताक्षर किये. भारत और फिलीपींस रक्षा तथा समु्द्री सुरक्षा क्षेत्र में साझेदारी को बढ़ावा देने तथा इसे द्विपक्षीय सहयोग का मुख्य आधार बनाने पर सहमत हुए है.


भारत और फिलीपींस ने हाल ही में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मनीला यात्रा के दौरान चार द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर किए. भारतीय राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद फिलीपींस और जापान के आधिकारिक दौरे पर हैं. वे दोनों देशों की अपनी यात्रा के पहले चरण में मनीला पहुंचे है.

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते से मुलाकात की और चार समझौतों पर हस्ताक्षर किये. भारत और फिलीपींस रक्षा तथा समु्द्री सुरक्षा क्षेत्र में साझेदारी को बढ़ावा देने तथा इसे द्विपक्षीय सहयोग का मुख्य आधार बनाने पर सहमत हुए है. ये फैसला क्षेत्र में चीन का सैन्य दबदबा बढ़ने के मद्देनजर अहम है.

चार समझौते पर हस्ताक्षर????????????

भारत और फिलीपींस ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी, समुद्री, पर्यटन तथा संस्कृति सहित चार समझौते पर हस्ताक्षर किए है. इन समझौतों में सफेद शिपिंग डेटा का आदान-प्रदान भी शामिल है जिसमें वाणिज्यिक और गैर-सैन्य जहाजों की आवाजाही के बारे में पहचान और जानकारी शामिल है.

महत्व????????????

फिलीपींस और भारत के बीच कूटनीतिक संबंध की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मनाया जा रहा है. फिलीपींस और भारत के बीच ज्यादा अधिक गतिशील तथा दूरंदेशी रिश्ते स्थापित किया जायेगा.

इस यात्रा के दौरान दोनों देशों ने आतंकवाद को उसके सभी रूपों में हराने तथा उसका पूरी तरह खात्मा करने हेतु मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता जताई है. फिलीपींस इस क्षेत्र के मजबूत देशों में से एक है.

भारत और फिलीपींस अपने-अपने राष्ट्रीय विकास तथा सुरक्षा उद्देश्य की प्राप्ति हेतु प्राकृतिक साझेदार हैं. दोनों देश संधियों पर हस्ताक्षर करने से समान रूप से भविष्य की खोज कर सकेंगे.

राष्ट्रपति कोविंद फिलीपींस में:????????????

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते के निमंत्रण पर 17 अक्टूबर से 21 अक्टूबर तक फिलीपींस की यात्रा पर रहेंगे. यह यात्रा दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना के 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर हो रही है. राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद फिलीपींस के राष्‍ट्रपति के निमंत्रण पर मनीला गये हैं. वे 17 अक्‍टूबर से 21 अक्‍टूबर तक यहां रहेंगे इसके बाद ये जापान जाएंगे. वे वहां सम्राट नारुहितो के राज्‍याभिषेक समारोह में हिस्‍सा लेंगे.
[11:43, 10/21/2019] Shivani Sunhare: पहली बौद्ध सर्किट स्पेशल ट्रेन शुरू: जानें क्या है इसकी खासियत

भारतीय रेलवे ने 19 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक भारत और नेपाल के बीच अपनी पहली बौद्ध सर्किट ट्रेन चलाने की घोषणा की है. ट्रेन यात्रियों को भारत तथा नेपाल दोनों देशों में गौतम बुद्ध के जीवन से जुड़े अहम स्थलों की यात्रा करवाएगी.

आईआरसीटीसी के मुताबिक, बौद्ध सर्किट ट्रेन महत्वपूर्ण बौद्ध स्मारकों को कवर करेगी. यह ट्रेन नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से यात्रियों को लेकर यात्रा शुरू करेगी और गौतम बुद्ध के जीवन से जुड़े स्थलों की यात्रा करवाने के बाद सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर ही अपनी यात्रा समाप्त करेगी.

बौद्ध सर्किट ट्रेन की खासियत

• आईआरसीटीसी ने यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय मानक अनुभव देने के लिए बौद्ध सर्किट ट्रेन में कई व्यवस्थाएं की हैं.

• इस ट्रेन में एसी फर्स्ट श्रेणी के डिब्बे के चार कोच में 96 सीटें, एसी द्वितीय श्रेणी के दो कोच की 60 सीटें, 64 लोगों के बैठकर भोजन करने की क्षमता वाले दो विशेष डाइनिंग कार तथा एक पैंट्री कार शामिल है.

• ट्रेन के प्रत्येक डिब्बे के अंदर एक रीडिंग लाइट होगी, साथ ही हर यात्री के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक लॉकर भी होगा.

• ट्रेन में बेहतर सुरक्षा हेतु पर्सनल डिजिटल लॉकर, फुट मसाजर्स, शॉवर, क्यूबिकल्स, सिंगल सिटिंग सोफा, सीसीटीवी कैमरे, स्मोक डिटेक्शन अलार्म सिस्टम के साथ-साथ अलग से बैठने की जगह भी है.

• इस ट्रेन में दो डाइनिंग कार, एक किचन कार, एक स्टाफ कार और दो पावर कार है.

बौद्ध सर्किट विशेष ट्रेन – मार्

बौद्ध सर्किट स्पेशल ट्रेन की यात्रा आठ दिन और सात रातों की होगी. इसके सभी समावेशी पैकेज में रेल यात्रा के साथ लग्जरी होटल में ठहराना, परिवहन, एयर कंडीशन बसों में सभी जगहों पर घुमाना और विभिन्न भाषाओं के टूर गाइड्स की व्यवस्था होगी. यह ट्रेन बुद्ध से जुड़े सभी स्थलों जैसे बुद्ध के जन्मस्थान लुंबिनी, बोधगया जहां उन्हें ज्ञान प्राप्त हुआ, सारनाथ-जहां उन्होंने अपना पहला उपदेश दिया तथा कुशीनगर जहां उन्होंने निर्वाण प्राप्त किया का भ्रमण करायेगी.

यह भी पढ़ें:Tejas Express: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस को दिखाई हरी झंडी, जाने इसके बारे में सबकुछ

बौद्ध सर्किट स्पेशल ट्रेन - पैकेज

आईआरसीटीसी बौद्ध सर्किट टूर पर जाने के इच्छुक पर्यटकों हेतु कई आकर्षक पैकेज भी दे रही है. एसी प्रथम श्रेणी का पैकेज लेने वाले जोड़े को इसके लिए 1,23,900 रुपये देने होंगे, जबकि एसी द्वितीय श्रेणी के पैकेज की कीमत 1,01,430 रुपये होगी. इसके अतिरिक्त पांच साल से कम उम्र के बच्चों को किराए से छूट दी गई है. पांच साल से 12 साल तक के बच्चों से पचास प्रतिशत किराया लिया जायेगा.

Kautilya Academy App Online Test Series