भारत ने पृथ्वी II मिसाइल का सफल परीक्षण किया

भारत ने पृथ्वी II मिसाइल का सफल परीक्षण किया

   Kautilya Academy    25-09-2020

भारत ने हाल ही में पृथ्वी II मिसाइल का सफल परीक्षण किया, जो स्वदेशी रूप से विकसित की गयी है। यह परीक्षण ओडिशा की चांदीपुर इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज में आयोजित किया गया।


मुख्य बिंदु

इस मिसाइल ने 350 किमी की दूरी तय की। यह परीक्षण नियमित अभ्यास का हिस्सा था। मिसाइल के प्रक्षेपवक्र को डीआरडीओ के इलेक्ट्रो ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम, रडार और टेलीमेट्री स्टेशनों द्वारा ट्रैक किया गया था। प्रक्षेपण गतिविधि सेना के सामरिक बल कमान और रक्षा अनुसंधान विकास संगठन के वैज्ञानिकों द्वारा की गई थी।


पृथ्वी मिसाइल

यह भारत द्वारा स्वदेशी रूप से विकसित एक छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है। इस मिसाइल को 1983 में इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत विकसित किया गया था। यह DRDO द्वारा विकसित पहली मिसाइल थी।


एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम


दिवंगत श्री अब्दुल कलाम के नेतृत्व में यह परियोजना शुरू की गई थी। रणनीतिक मिसाइलों के सफल विकास के बाद यह कार्यक्रम 2008 में समाप्त हो गया था। इस कार्यक्रम के तहत चार मुख्य परियोजनाएं आयोजित की गईं। वे इस प्रकार हैं :

  • पृथ्वी: कम दूरी की सतह से सतह तक मार करने वाली मिसाइल
  • त्रिशूल: कम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल
  • आकाश: मध्यम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल
  • नाग: एंटी टैंक मिसाइल

इस परियोजना को MTCR (मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम) से कई बाधाओं का सामना करना पड़ा। एमटीसीआर के तहत, भारत उन तकनीकों तक पहुंचने के लिए प्रतिबंधित था जो देश को मिसाइल विकास कार्यक्रम बनाने में आवश्यक थे। हालांकि, भारत ने MTCR द्वारा सभी प्रतिबंधित घटकों को सफलतापूर्वक स्वदेशी रूप से विकसित किया।


एमटीसीआर

MTCR की स्थापना G-7 देशों द्वारा की गई थी। इसने सामूहिक विनाश के हथियारों के प्रसार को प्रतिबंधित कर दिया था। MTCR मुख्य रूप से मानवरहित हवाई वाहन और रॉकेट पर केंद्रित था। इसके अलावा, MTCR ने परमाणु हथियारों के उत्पादन को प्रतिबंधित करने पर फोकस किया।


सामरिक बल कमान (Strategic Forces Command)

यह भारत का परमाणु कमांड विंग है। यह मुख्य रूप से देश में रणनीतिक परमाणु हथियारों का प्रबंधन करता है। इसे 2003 में तत्कालीन वाजपेयी सरकार ने बनाया था। स्ट्रेटेजिक फोर्सेज कमांड के तहत आने वाली मिसाइलें पृथ्वी, अग्नि और सूर्य हैं।



Kautilya Academy App Online Test Series

MPPSC Mains Online Test Series 2020-21