Blog | Kautilya

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प को भारत आने का निमंत्रण दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प को भारत आने का निमंत्रण दिया

   Best Coaching Classes    24-09-2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प को भारत आने का निमंत्रण दिया

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 सितंबर 2019 को अमेरिका स्थित ह्यूस्टन के NRG स्टेडियम से 50,000 भारतीय समुदाय के लोगों को Howdy Modi कार्यक्रम में संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में आतंकवाद, जम्मू-कश्मीर और आर्थिक विकास जैसे कई मुद्दों पर चर्चा की. प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद के निर्याणक हल की आवश्यकता पर बल दिया. इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को भारत आने का न्योता भी दिया.



भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाने के बाद शांति बहाली के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों का भी उल्लेख किया. इसके अतिरिक्त उन्होंने भारत सरकार द्वारा चलाई जा रहीं विभिन्न योजनाओं के बारे में भी बात की.



प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के प्रमुख तथ्य



आतंकवाद के खिलाफ वचनबद्ध: प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में स्पष्ट रूप से कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को निर्णायक रूप दिया जाना चाहिए. प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि आतंक को पालने वाले देशों को अब संभल जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि आतंकवाद की समस्या को लेकर भारत अब निर्णायक लड़ाई की तरफ बढ़ रहा है और बहुत जल्द इस चुनौती पर विजय प्राप्त कर लेगा. पीएम मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत का साथ देने के लिए अमेरिका और इज़राइल की तारीफ की.



5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के बारे में: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन इकॉनमी बनाने के प्रयासों के बारे में भी लोगों को बताया. उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती के बारे में बोलते हुए कहा कि तमाम अनिश्चितताओं के बाद भी भारत की औसतन वृद्धि दर रेट 7.3 प्रतिशत रही है.



अनुच्छेद 370 के बारे में: एनआरजी स्टेडियम में बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक भी भारतीय विकास की राह से न छूटे इसके लिए सरकार प्रयास कर रही है. उन्होंने अनुच्छेद 370 की समाप्ति पर बोलते हुए कहा कि 70 साल से चले आ रहे इस अनुच्छेद को समाप्त करके जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को विकास और समान अधिकारों से रूबरू कराया गया है.



डिजिटलाईजेशन के बारे में: प्रधानमंत्री मोदी ने डिजिटलाईजेशन पर बल देते हुए कहा कि मौजूदा समय में केंद्र सरकार की दस हज़ार से भी अधिक सेवायें ऑनलाइन उपलब्ध हैं. उन्होंने इस पहल का लाभ बताते हुए कहा कि डिजिटल होने से एक दिन में लगभग 50 लाख लोगों ने इनकम टैक्स रिटर्न भरा जो पहले दो महीने में होता था. साथ ही उन्होंने पासपोर्ट सेवाओं के ऑनलाइन होने के लाभ भी गिनाये.



ट्रम्प को भारत आने का न्योता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण के अंत में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तारीफ़ करते हुए उन्हें कार्यक्रम के लिए धन्यवाद दिया तथा उन्हें सपरिवार भारत आने का निमंत्रण भी दिया.

Kautilya Academy App Online Test Series